ads

रिलायंस को छोड़ देश की टॉप कंपनियों की हैसियत में जबरदस्त गिरावट, जानिए कितना बड़ा हुआ नुकसान

नई दिल्ली। बीते हफ्ते शेयर बाजार में बड़ी गिरावट आ जाने से कंपनियों की बाजार हैसियत में बड़ी गिरावट देखने को मिली। सेंसेक्स की टॉप 10 कंपनियों में से 9 कंपनियों की बाजार हैसियत गिरावट देखने को मिली। आंकड़ों की मानें तो 9 कंपनियों के मार्केट कैप में बीते सप्ताह 2,19,920.71 करोड़ रुपए की गिरावट देखने को मिली है। सिर्फ रिलायंस ही ऐसी कंपनी रही जिसके मार्केट में इजाफा देखने को मिला। वैसे यह तेजी काफी मामूली देखने को मिली।

यह भी पढ़ेेंः- विदेशी निवेशकों ने फरवरी में किया 23,600 करोड़ रुपए से ज्यादा का शुद्घ निवेश

रिलायंस के मार्केट कैप में इजाफा
बीते सप्ताह रिलायंस के मार्केट कैप में इजाफा देखने को मिला। कंपनी के शेयरों में मामूली तेजी के कारण मार्केट कैप 2,092.01 करोड़ रुपए का इजाफा देखने को मिला। जिसके बाद कंपनी का मार्केट कैप बढ़कर 13,21,044.35 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। आपको बता दें कि रिलायंस का शेयर प्राइस 2083.85 रुपए बंद हुआ। बाजार में गिरावट के कारण कंपनी के शेयर 3 फीसदी तक फिसल गए थे।

यह भी पढ़ेेंः- जीडीपी के आंकड़ों और विदेशी बाजारों से तय होगी शेयर बाजार की चाल

इन कंपनियों की हैसियत में आई गिरावट
- टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 81,506.34 करोड़ रुपए घटकर 10,71,263.77 करोड़ रुपए रह गया।
- एचडीएफसी बैंक का बाजार मूल्यांकन 2,202.12 करोड़ रुपए घटकर 8,45,552.53 करोड़ रुपए पर आ गया।
- आईसीआईसीआई बैंक की बाजार हैसियत 18,098.57 रुपए घटकर 4,13,078.87 करोड़ रुपए रह गई।
- हिंदुस्तान यूनिलीवर का बाजार पूंजीकरण 11,536.32 करोड़ रुपए के नुकसान से 5,00,937.14 करोड़ रुपए पर आ गया।
- एचडीएफसी का मूल्यांकन 35,389.88 करोड़ रुपए की गिरावट के साथ 4,57,518.73 करोड़ रुपए पर आ गया।
- इंफोसिस का 16,613.57 करोड़ रुपए के नुकसान के साथ 5,33,487.07 करोड़ रुपए रह गया।
- बजाज फाइनेंस का बाजार पूंजीकरण 15,712.46 करोड़ रुपए घटकर 3,15,653.33 करोड़ रुपए रह गया।
- कोटक महिंद्रा बैंक की बाजार हैसियत 30,695.43 करोड़ रुपए घटकर 3,53,081.63 करोड़ रुपए रह गई।
- एसबीआई के बाजार मूल्यांकन में 8,166.02 करोड़ रुपए की गिरावट आई और यह 3,48,138.34 करोड़ रुपए पर आ गया।



Source रिलायंस को छोड़ देश की टॉप कंपनियों की हैसियत में जबरदस्त गिरावट, जानिए कितना बड़ा हुआ नुकसान
https://ift.tt/3bNJLRG

Post a Comment

0 Comments