ads

किसानों के आंदोलन के बीच आलू हुआ 4 रुपए किलो आलू, एक महीने में 81 फीसदी टूटे दाम

नई दिल्ली। किसान आंदोलन के बीच आलू के दाम में बीते एक महीने में जबरदस्त गिरावट देखने को मिली है। प्राप्त आंकड़ों के अनुसार देश की राजधानी दिल्ली में एक महीने में आलू के थोक भाव 81 फीसदी तक कम हो गए हैं। वहीं वहीं दूसरी खुदरा भाव में 50 से 60 फीसदी तक की कमी देखने को मिल चुकी है। जोकि राजधानी दिल्ली और एनसीआर के लोगों के लिए काफी राहत की बात है। वर्ना आलू के दाम 60 रुपए प्रति किलो से उपर पहुंच गए थे। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर आलू के थोक और खुदरा भाव कितने हो गए हैं।

थोक भाव में जबरदस्त गिरावट
दिल्ली की आजादपुर मंडी में आलू का थोक भाव टूटकर चार रुपए प्रति किलो पर आ गया जोकि एक महीने पहले 22 रुपये प्रति किलो था। हालांकि यह मंडी में आलू के थोक भाव का निचला स्तर है, लेकिन थोक भाव के ऊपरी स्तर में भी 50 फीसदी की गिरावट आई है। एक महीने पहले जहां आजादपुर मंडी में आलू का थोक भाव 36 रुपए किलो था, जो 18 रुपए प्रति किलो पर आ चुका है।औसत भाव की बात करें तो इसमें बीते एक महीने में 66 फीसदी की गिरावट आई है। मंडी में आलू का औसत थोक भाव 9.75 रुपए प्रति किलो है जबकि एक महीने पहले 29.25 रुपए प्रति किलो था।

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today: फटाफट जानिए अपने शहर में पेट्रोल और डीजल की कीमत

खुदरा कीमत में भी गिरावट
वहीं दूसरी ओर आलू की खुदरा कीमत में भी 50 से 60 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है। मौजूदा समय में खुदरा कीमत 20 से 30 रुपए प्रति किलोग्राम हो गई है। जबकि एक महीना पहले आलू के खुदरा दाम दिल्ली में 50 से 60 रुपए प्रति किलोग्राम पर आ गए थे। इसके अलावा दिल्ली के कई इलाकों में आलू के दाम 100 रुपए धड़ी यानी 100 रुपए में 5 किलो भी मिल रहे हैं। इस हिसाब से आलू के खुदरा दाम 20 रुपए प्रति किलोग्राम तक आ गए हैं।

सप्लाई अब भी प्रभावित
कारोबारियों ने बताया कि किसान आंदोलन के चलते आवक कम है अन्यथा आलू के दाम में और गिरावट आ गई होती। आजादपुर मंडी में आलू की आवक 943.6 टन पर आ गई हैं। जो कुड दिन पहले 1,286 टन थी। मंडी के कारोबारियों ने बताया कि इस समय आलू की आवक ज्यादातर पंजाब और हिमाचल प्रदेश से हो रही है जोकि किसान आंदोलन की वहज से थोड़ी प्रभावित है।

सरकार ने आलू आयात करने की दी अनुमति
कुछ सप्ताह पहले तक दिल्ली-एनसीआर में आलू का खुदरा भाव 50 रुपये किलो से ऊपर चल रहा था जोकि अब घटकर 25 से 30 रुपये प्रति किलो पर आ गया है। बता दें कि आलू का दाम दिवाली से पहले आसमान चढ़ गया था और केंद्र सरकार ने आलू के दाम को नियंत्रण में रखने के लिए केंद्र सरकार ने अक्टूबर में 10 फीसदी आयात शुल्क पर 10 लाख टन आलू आयात करने की अनुमति देने का फैसला लिया जबकि आलू पर आयात शुल्क 30 फीसदी है।



Source किसानों के आंदोलन के बीच आलू हुआ 4 रुपए किलो आलू, एक महीने में 81 फीसदी टूटे दाम
https://ift.tt/2J0wNpj

Post a Comment

0 Comments