ads

यूएस कोर्ट में पेटेंट मुकदमा सुलझने से इस भारतीय कंपनी को हुआ 3000 करोड़ का फायदा

फार्मा कंपनी सिपला द्वारा जानकारी दी गई है कि कंपनी और संयुक्त राज्य अमरीका में सेलेगीन [ब्रिस्टल मायर्स स्क्विब (बीएमएस)] के साथ चल रहे जीरिवालिम्ड (लेनिनग्लोमाइड) पेटेंट मुकदमे का निपटारा हो गया है। सेटलमेंट की शर्तों के तहत, सेलेजिन विनियामक अनुमोदन के अधीन सिपला को मार्च 2022 के बाद कुछ समय में अमेरिका में जीरिवालिम्ड नाम की कैप्सूल की सीमित मात्रा में बेचने के लिए लाइसेंस प्रदान करेगा। यह सीमित मात्रा की बाधा जनवरी 2026 तक लागू होगी। जिसके बाद सिपला के शेयरों में आज 5 फीसदी की तेजी देखने को मिली है।

कंपनी के शेयरों में 5 फीसदी की तेजी
आज सिपला के शेयरों में 5 फीसदी तक तेजी देखने को मिली है। आंकड़ों के अनुसार कारोबारी सत्र के दौरान कंपनी का शेयर 792.80 रुपए के साथ दिन के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। जोकि कल के मुकाबले 5 फीसदी अधिक है। आपको बता दें कि कंपनी का 52 हफ्तों का हाइक 829 रुपए है। जोकि कंपनी ने 13 अक्टूबर को इसी साल बनाया था। जबकि कंपनी का 52 हफ्तों का लो 356.75 रुपए है, जोकि 13 मार्च को इसी साल में बनाया था। यानी कंपनी का शेयर मार्च के बाद से दोगुना बढ़ चुका है।

शेयर की मौजूदा स्थिति
वहीं मौजूदा समय में यानी 11 बजकर 40 मिनट पर कंपनी का शेयर 3.63 फीसदी की तेजी के साथ 783.35 रुपए पर कारोबार कर रहा है। जबकि कंपनी का शेयर आज 772 रुपए प्रति शेयर पर खुला था। जोकि दिन का न्यूनतम स्तर पर भी है। वहीं शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद कंपनी के शेयर का दाम 755.90 रुपए प्रति शेयर पर था।

मार्केट कैप में इजाफा
वहीं दूसरी ओर कंपनी के मार्केट कैप में भी जबरदस्त तेजी देखने को मिली है। आंकड़ों के अनुसार आज जब कंपनी का शेयर प्राइस 792.80 रुपए पहुंचा तो कंपनी का मार्केट कैप करीब 63,935.04 करोड़ रुपए पर पहुंच गया था। जबकि शुक्रवार को कंपनी का मार्केट कैप 60980.26 करोड़ रुपए के आसपास कर रहा था। यानी आज करोबारी सत्र के दौरान कंपनी का मार्केट कैप 2951.78 रुपए बढ़ गया।



Source यूएस कोर्ट में पेटेंट मुकदमा सुलझने से इस भारतीय कंपनी को हुआ 3000 करोड़ का फायदा
https://ift.tt/3ngH3Zx

Post a Comment

0 Comments